Bhari Motivation
2021 में आने वाली फ़िल्में About Us Covid 19 Other अनमोल वचन इनफार्मेशनल उपयोगी लाभकारी घरेलु नुस्खे और उपाय कविताये कहानी घरेलु नुस्खे टिप्स और ट्रिक्स पर्व और त्यौहार प्रेरक कहानियां प्रेरक व्यक्तित्व मनोरंजन महाभारत रामायण कहानी | Mahabharat Ramayan in Hindi मोटिवेशन रिलेशनशिप वेडिंग स्पेशल शायरी सक्सेस मंत्र संस्कृत श्लोक एवम अर्थ सुविचार सेहत और सुन्दरता स्टूडेंट टिप्स हिंदी आलेख हिन्दी लेख

फरीदाबाद में रिटायर्ड ब्रिगेडियर से ठगी: कर्नल दोस्त का हवाला देकर मांगी मदद; खाते में 1 लाख ट्रांसफर करने के बाद पता चला छल हुआ

रेवाड़ी/फरीदाबाद19 घंटे पहले

कॉपी लिंक

दिल्ली के साथ लगते हरियाणा के फरीदाबाद में सेना के रिटायर्ड ब्रिगेडियर से ठगी का मामला सामने आया है। ठगी करने वाले शख्स ने ब्रिगेडियर को उनके कर्नल दोस्त का हवाला देकर अस्पताल में भर्ती जानकार के लिए मदद मांगी। ब्रिगेडियर ने भी मदद में देरी किए बगैर एक लाख रुपए खाते में ट्रांसफर कर दिए। पैसे ट्रांसफर करने के बाद जब कर्नल दोस्त से बात की तो ठगी का पता चला। ब्रिगेडियर ने साइबर पुलिस को शिकायत देकर केस दर्ज कराया है।

भतीजे की पत्नी अस्पताल में होने की बात लिखी

फरीदाबाद सेक्टर-17 निवासी सेवानिवृत्त ब्रिगेडियर सतींद्र नाथ ने पुलिस को दी शिकायत में बताया कि 1 नंवबर को उन्हें 1 ईमेल मिली। यह ई-मेल कर्नल दीपक मेहता के नाम से आई थी। दीपक मेहता उनके दोस्त हैं। उन्हें लगा कि ई-मेल दीपक मेहता ने की है, इसलिए उन्होंने जवाब दे दिया। इसके बाद दीपक मेहता नाम के शातिर व्यक्ति ने ई-मेल पर बताया कि उनके भतीजे माधव की पत्नी अस्पताल में भर्ती है। उसकी सर्जरी के लिए 1 लाख रुपए की तुरंत जरूरत है। ई-मेल के जरिये शातिर ठग ने अस्पताल में भर्ती महिला मरीज की फोटो भी भेजी।

नेटबैंकिंग से इनकार पर कैश जमा करवाने को कहा

ब्रिगेडियर ने ई-मेल का जवाब दिया कि वह नेटबैंकिग यूज नहीं करते। साथ ही बताया कि बैंक खाते से पैसे निकालकर दे सकते है। इसके बाद फिर ब्रिगेडियर के पास ई-मेल आई। इसमें बैंक खाते की जानकारी भेजकर उसमें नकदी जमा कराने की अपील की गई। ब्रिगेडियर को लगा कि ई-मेल उनके दोस्त दीपक कर रहे हैं, इसलिए उन्होंने 1 लाख रुपए बताए खाते में जमा करवा दिए। 3 नवंबर को सर्जरी के बाद रक्त की जरूरत पड़ने पर 30 हजार रुपए की मांग कर फिर एक ई-मेल ब्रिगेडियर को मिली। इसके बाद उन्हें संदेह हो गया।

दोस्त से बात हुई तो पता चला कोई भतीजा नहीं

उन्होंने अपने दोस्त दीपक मेहता से फोन पर संपर्क किया तो उन्होंने रुपए के लिए कोई ई-मेल करने से इनकार कर दिया। साथ ही बताया कि माधव नाम का उनका कोई भतीजा नहीं है। इस तरह ठगी का पता चलने पर ब्रिगेडियर ने पुलिस को शिकायत दी। पुलिस का कहना है कि ठगों की तलाश शुरू कर दी है।

खबरें और भी हैं…

Related posts

हालात हो रहे खतरनाक: दिखने लगा प्रदूषण का असर एक दिन में हार्ट अटैक के दस केस पहुंचे, डेढ़ गुना हुई ओपीडी

Admin

दि‍ल्ली में छठ महा पर्व शुरू: डीडीएमए और दि‍ल्ली सरकार के आदेश की धज्जियां उड़ाते हुए आईटीओ यमुना घाट पहुंचे भाजपा सांसद, मनाई छठ

Admin

प्रदूषण से बचने की कवायद: शहर की हवा जहरीली होने के बाद जागा निगम, किराए पर लिए जा रहे टैंकर, सड़कों होगा पानी का छिड़काव

Admin

Leave a Comment

टॉप न्यूज़